जब मायावती ने पहली बार डिंपल को देखा, नमस्ते से जुड़ा रोचक किस्सा

जब मायावती ने पहली बार डिंपल को देखा, नमस्ते से जुड़ा रोचक किस्सा
उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावतीफोटो: पंकज नांगिया/ इंडिया टुडे

उत्तर प्रदेश में जितनी तेजी से राजनीतिक हालात बदलते हैं, शायद ही किसी दूसरे सूबे में ऐसा होता होगा। अब 2022 के चुनावों को ही ले लीजिए। अभी दो साल पहले 2019 के आम चुनावों में जहां बुआ-भतीजे यानी मायावती-अखिलेश ने जुगलबंदी की, तो प्रदेश चुनावों के लिए आज दोनों पार्टियों की राह अलग नजर आ रही है।

हालांकि, यह बात दिगर है कि मायावती और अखिलेश के सियासी रिश्ते को लेकर बीजेपी तंज कसने का कोई मौका नहीं छेड़ती और पिछले दिनों आजतक के कार्यक्रम में मायावती को अखिलेश की बुआजी कह सीएम योगी ने ठीक ऐसा किया भी।

एक वक्त बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) सुप्रीमो मायावती और मुलायम सिंह यादव की समाजवादी पार्टी (सपा) की अदावत कभी काफी ऊंचे स्तर की थी और गेस्ट हाउस कांड का किस्सा हम सभी जानते भी रहे हैं।

हालांकि, राजनेता सियासी रंजिश से इतर आपसी संबंधों को भी बनाए रखने की कवायद करते देखे जाते हैं। ऐसा ही मायावती और मुलायम परिवार के साथ भी है। इस बात की जीती-जागती नजीर है यह कहानी।

इस कहानी में 4 किरदार हैं। यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व् कुमारी मायावती, पूर्व सांसद डिम्पल यादव और मायावती के सुरक्षा अधिकारी रहे पद्म सिंह। तकरीबन 18 वर्षों तक पूर्व मुख्यमंत्री मायावती की सुरक्षा में तैनात रहे रिटायर्ड डिप्टी एसपी पद्म सिंह ने साल 2016 में भारतीय जनता पार्टी की सदस्य्ता ग्रहण की थी। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एन.डी. तिवारी, कल्याण सिंह और मुलायम सिंह की सुरक्षा का भी हिस्सा रहे पद्म सिंह सिंह ने अखिलेश, डिम्पल और मायावती से जुड़ा एक रोचक किस्सा मीडिया में साझा किया था।

फ्लाइट के बिजनेस क्लास में जब मायावती से मिले अखिलेश और डिंपल

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और कन्नौज की पूर्व सांसद डिंपल यादव
उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और कन्नौज की पूर्व सांसद डिंपल यादवफोटो: मनीष अग्निहोत्री/ इंडिया टुडे

पद्म सिंह के मुताबिक, साल 2002 में दिल्ली जाने वाली एक फ्लाइट में बिजनेस क्लास में मायावती बैठी हुई थीं। साल 2000 में पहली बार सांसद बने अखिलेश अपनी पत्नी डिंपल यादव के साथ उसी फ्लाइट में एंट्री करते हैं। सामने बैठीं मायावती को देखकर दोनों ने उन्हें नमस्ते किया।

मायावती शायद उन्हें पहचान नहीं पाईं और नमस्ते का जवाब नहीं दिया। इसके बाद फ्लाइट जब दिल्ली पहुंची तो उतरने के बाद मायावती ने युवा दंपती के बारे में पूछा जिन्होंने उन्हें नमस्कार किया था। मायावती के सवाल का जवाब देते हुए पद्म सिंह ने उन्हें बताया कि वे कोई और नहीं बल्कि मुलायम सिंह के बेटे और बहु थे।

इसके बाद मायावती ने पद्म सिंह से नाराजगी जाहिर करते हुए कहा, "तुमने मुझे बताया क्यों नहीं...तुम्हें मुझे चुपचाप बता देना चाहिये था। उनके (मुलायम सिंह) बेटे-बहू ने मुझे नमस्ते किया, मुझे भी सही से उनका अभिवादन करना चाहिये था। वो लड़का मेरे बारे में क्या सोच रहा होगा? उसकी पत्नी क्या सोच रही होगी? यह सही नहीं हुआ।"

मायावती का इस घटना पर अफसोस जाताना इस बात की तरफ इशारा कर रहा था कि भले ही उनकी सपा संगरक्ष मुलायम सिंह और उनकी पार्टी के अन्य नेताओं से राजनीतिक दुश्मनी रही हो लेकिन शायद उनके बच्चों से उनका कोई बैर नहीं था।

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in