यूपी चुनाव: वरुण-मेनिका गांधी पीलीभीत में बीजेपी को जिता पाएंगे?

यूपी चुनाव: वरुण-मेनिका गांधी पीलीभीत में बीजेपी को जिता पाएंगे?
मेनिका गांधी के साथ वरुण गांधीफोटो: सिप्रा दास/ इंडिया टुडे

पीलीभीत उत्तर प्रदेश जैसे विशाल राज्य के उत्तरी भाग में बसा एक जिला है। पीलीभीत जिले की सीमा नेपाल के काफी करीब है। पीलीभीत जिले का अधिकांश भाग घने जंगलों से घिरा हुआ है। टाइगर रिजर्व, चूका बीच और जामा मस्जिद यहां के प्रमुख पर्यटक स्थल हैं।

पीलीभीत बीजेपी की वरिष्ठ नेत्री और पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनिका गांधी का चुनावी क्षेत्र भी है। वह यहां से 6 बार सांसद रह चुकी हैं। फिलहाल, पीलीभीत से मेनिका गांधी के बेटे व बीजेपी के युवा नेता वरुण गांधी सांसद हैं।

जिले में 4 विधानसभा क्षेत्र हैं

  1. पीलीभीत

  2. बरखेड़ा

  3. पूरनपुर

  4. बीसलपुर

गौरतलब है कि 2017 के विधानसभा चुनावों में एक तरफा प्रदर्शन करते हुए बीजेपी ने पीलीभीत विधानसभा क्षेत्र की 4 में से 4 विधानसभा सीटों पर अपना कब्ज़ा जमाया था। वहीं, 2012 के चुनावों में इस विधानसभा क्षेत्र में सपा का दबदबा रहा था। इस बार सपा ने 4 में 3 विधानसभा सीटें जीती थीं जबकि 1 सीट बीजेपी को मिली थी।

जिले की विधानसभा सीटों का विस्तार से विवरण

पीलीभीत

2017: इस चुनाव में पीलीभीत विधानसभा सीट पर बीजेपी ने अपना झंडा फहराया था। बीजेपी के संजय सिंह गंगवार ने सपा के रियाज अहमद को 43,356 वोटों से हराया था।

2012: इस चुनाव में सपा के रियाज अहमद ने बीएसपी के संजय सिंह गंगवार को 4,235 वोटों से हराया था।

बरखेड़ा

2017: इस चुनाव में बीजेपी के कृष्ण लाल राजपूत ने सपा के हेमराज वर्मा को 57930 वोटों से हराया था।

2012: इस चुनाव में सपा के हेमराज वर्मा की जीत हुई थी। उन्होंने बीजेपी के जयद्रथ एलियास प्रवक्तानंद को 30374 वोटों से हराया था।

पूरनपुर

2017: इस चुनाव में बीजेपी के बाबू राम पासवान ने सपा के पीतराम को 39,242 वोटों से हराया था।

2012: इस चुनाव में सपा के पीतराम बीजेपी के बाबू राम ने 30,838 वोटों से हराया था।

बीसलपुर

2017: इस चुनाव में बीजेपी के अगयश राम सरन वर्मा ने कांग्रेस के अनीस अहमद खान एलियास फूलबाबू को 40,996 वोटों से हराया था।

2012: इस चुनाव में अगयश राम सरन वर्मा ने कांग्रेस के अनीस अहमद खान एलियास फूलबाबू को 56,071 वोटों से हराया था।

2022 में उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में यह देखना दिलचस्प होगा कि बीजेपी फिर से 2017 के विधानसभा चुनाव वाला प्रदर्शन दोहरा पाएगी या नहीं। पिछले विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव का नतीजा देखा जाए तो पीलीभीत की जनता ने बीजेपी का एकतरफा साथ दिया है।

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in