UP चुनाव: सुल्तानपुर में क्या बीजेपी 2017 का प्रर्दशन दोहरा पाएगी?

UP चुनाव: सुल्तानपुर में क्या बीजेपी 2017 का प्रर्दशन दोहरा पाएगी?
सितंबर 2019 के दौरान सुल्तानपुर में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे की तस्वीर.फोटो: इंडिया टुडे आर्काइव

लखनऊ के पूर्व 138 किमी दक्षिण में स्थित सुल्तानपुर को ऋषि मुनियों की तपोस्थली का गौरव प्राप्त है. जिले में 5 विधानसभा सीटें हैं. 2012 के विधानसभा चुनाव में जिले की सभी 5 सीटों पर सपा ने जीत दर्ज की थी. 2012 के चुनाव में जिले में एक भी सीट नहीं जीतने वाले बीजेपी 2017 के विधानसभा चुनाव में चौंकाने वाला प्रदर्शन की थी. 2017 में भाजपा के खाते में जिले की 4 सीटें गई थी और 1 सीट पर सपा ने कब्जा किया था. विधानसभा चुनाव 2012 से 2017 में सभी विधानसभा सीटों पर तस्वीरें कैसी बदली, आइए एक नज़र डालते हैं.

सुल्तानपुर में कुल 5 विधानसभा सीटें-

  • इसौली विधानसभा

  • सुल्तानपुर विधानसभा

  • सदर विधानसभा

  • लम्भुआ विधानसभा

  • कादीपुर विधानसभा

इसौली विधानसभा

2017: विधानसभा चुनाव 2017 में यह सीट सपा के खाते में गई थी. सपा के अबरार अहमद ने 51 हजार 583 वोट पाकर बीजेपी के ओम प्रकाश पांडेय को 4 हजार 241 वोटों से हराया था. आरएलडी के यश भद्र सिंह 43 हजार 26 वोट पाकर तीसरे नंबर पर थे.

2012: विधानसभा चुनाव 2012 में इस सीट पर सपा का कब्जा था. सपा के अबरार अहमद ने 48 हजार 813 वोट पाकर पीईसीपी के यश भद्र सिंह (मोनू) को 13 हजार 941 वोटों से हराया था. निर्दलीय उम्मीदवार कृष्णा कुमार 25 हजार 81 वोट पाकर तीसरे नंबर पर थे.

सुल्तानपुर विधानसभा

2017: विधानसभा चुनाव 2017 में यह सीट बीजेपी के खाते में गई थी. बीजेपी के सुर्य भान सिंह ने 86 हजार 786 वोट पाकर बसपा के मुजीब अहमद को 32 हजार 393 वोटों से हराया था. सपा के अनूप संडा 53 हजार 238 वोट पाकर तीसरे नंबर पर थे.

2012: विधानसभा चुनाव 2012 में इस सीट पर सपा का कब्जा था. सपा के अनूप संडा ने 57 हजार 811 वोट पाकर बसपा के मो. ताहिर खान को 6 हजार 812 वोटों से हराया था. पीईसीपी के चंद्र भद्र सिंह 32 हजार 457 वोट पाकर तीसरे नंबर पर थे.

सदर विधानसभा

2017: विधानसभा चुनाव 2017 में यह सीट बीजेपी के खाते में गई थी. बीजेपी के सीताराम ने 68 हजार 950 वोट पाकर बसपा के राज प्रसाद उपाध्याय को 18 हजार 773 वोटों से हराया था. सपा के अरुण वर्मा 49 हजार 692 वोट पाकर तीसरे नंबर पर थे.

2012: विधानसभा चुनाव 2012 में इस सीट पर सपा का कब्जा था. सपा के अरुण कुमार ने 71 हजार 939 वोट पाकर बसपा के राज प्रसाद को 20 हजार 907 वोटों से हराया था. बीजेपी के अरुन सिंह 24 हजार 389 वोट पाकर तीसरे नंबर पर थे.

लम्भुआ विधानसभा

2017: विधानसभा चुनाव 2017 में यह सीट बीजेपी के खाते में गई थी. बीजेपी के देवमणि द्विवेदी ने 78 हजार 627 वोट पाकर बसपा के विनोद सिंह को 12 हजार 903 वोटों से हराया था. सपा के संतोष पांडेय 47 हजार 633 वोट पाकर तीसरे नंबर पर थे.

2012: विधानसभा चुनाव 2012 में इस सीट पर सपा का कब्जा था. सपा के संतोष पांडेय ने 74 हजार 352 वोट पाकर बसपा के विनोद सिंह को 17 हजार 372 वोटों से हराया था. कांग्रेस के राम शिरोमणि वर्मा 24 हजार 534 वोट पाकर तीसरे नंबर पर थे.

कादीपुर विधानसभा (SC)

2017: विधानसभा चुनाव 2017 में यह सीट बीजेपी के खाते में गई थी. बीजेपी के राजेश गौतम ने 87 हजार 353 वोट पाकर बसपा के भगेलू राम को 26 हजार 604 वोटों से हराया था. कांग्रेस के अंगद कुमार 32 हजार 42 वोट पाकर तीसरे नंबर पर थे.

2012: विधानसभा चुनाव 2012 में इस सीट पर सपा का कब्जा था. सपा के रामचंद्र चौधरी ने 97 हजार 283 वोट पाकर बसपा के भगेलू राम को 38 हजार 110 वोटों से हराया था. कांग्रेस के राजेश कुमार गौतम 11 हजार 929 वोट पाकर तीसरे नंबर पर थे.

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in