UP चुनाव 2022: क्या आगरा जिले में फिर देखने को मिलेगा बड़ा उलटफेर?

UP चुनाव 2022: क्या आगरा जिले में फिर देखने को मिलेगा बड़ा उलटफेर?
ताजमहल की वजह से दुनियाभर में मशहूर है आगरा(फोटो: मनीष अग्निहोत्री/इंडिया टुडे)

उत्तर प्रदेश का आगरा ताजमहल (Taj Mahal) की वजह से दुनियाभर में मशहूर है. पिछले दो विधानसभा चुनावों के नतीजे देखें तो राज्य की राजनीति में उलटफेर के लिहाज से भी यह जिला खास है. इस जिले में कुछ 9 विधानसभा क्षेत्र हैं.

साल 2012 के विधानसभा चुनाव में आगरा जिले में बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) का दबदबा रहा था. मगर 2017 के विधानसभा चुनाव में सियासी तस्वीर इस तरह बदली कि सभी सीटें भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के खाते में चली गईं.

पिछले दो विधानसभा चुनावों के बाद इन 9 सीटों की जो सूरत सामने आई, वो काफी दिलचस्प है. ऐसे में, एक-एक करके आगरा जिले के विधानसभा क्षेत्रों पर एक नजर:

1. आगरा कैंट (एससी)

2017: इस चुनाव में यहां बीजेपी उम्मीदवार गिरिराज सिंह धर्मेश ने बीएसपी के गुटियारी लाल दुवेश को हराया था. दोनों उम्मीदवारों को मिले वोटों का अंतर 46325 था.

2012: बीएसपी उम्मीदवार गुटियारी लाल दुवेश ने इस चुनाव में यहां बीजेपी के गिरराज सिंह धर्मेश को 6415 वोटों से हराया था.

2. आगरा नॉर्थ

2017: यह सीट भी इस चुनाव में बीजेपी के खाते में गई थी. बीजेपी उम्मीदवार जगन प्रसाद गर्ग ने बीएसपी के ज्ञानेंद्र गौतम को 86320 वोटों से हराया था.

2012: बीजेपी उम्मीदवार जगन प्रसाद गर्ग ने बीएसपी उम्मीदवार राजेश कुमार अग्रवाल को हराया था. दोनों उम्मीदवारों को मिले वोटों का अंतर 23356 रहा था.

3. आगरा ग्रामीण (एससी)

2017: बीजेपी उम्मीदवार हेमलता दिवाकर ने बीएसपी के कालीचरण सुमन को हराया था. दोनों उम्मीदवारों को मिले वोटों का अंतर 65296 रहा था.

2012: इस चुनाव में यहां बीएसपी की जीत हुई थी. बीएसपी उम्मीदवार काली चरण सुमन ने समाजवादी पार्टी (एसपी) उम्मीदवार हेमलता को 18846 वोटों से हराया था.

4. आगरा साउथ

2017: इस चुनाव में बीजेपी उम्मीदवार योगेंद्र उपाध्याय ने बीएसपी उम्मीदवार जुल्फिकार अहमद भुट्टो को 54225 वोटों से हराया था.

2012: इस चुनाव में यहां बीजेपी की जीत हुई थी. बीजेपी उम्मीदवार योगेंद्र उपाध्याय ने बीएसपी के जुल्फिकार अहमद भुट्टो को 22960 वोटों से हराया था.

5. बाह

2017: बीजेपी उम्मीदवार रानी पक्षलिका सिंह ने जीत दर्ज की. दूसरे नंबर पर बीएसपी उम्मीदवार मधुसूदन शर्मा रहे. दोनों उम्मीदवारों को मिले वोटों का अंतर 23140 था.

2012: इस चुनाव में यहां एसपी की जीत हुई थी. एसपी उम्मीदवार राजा महेंद्र अरिदमान सिंह ने बीएसपी उम्मीदवार मधुसूदन शर्मा को 26471 वोटों से हराया था.

6. एत्मादपुर

2017: बीजेपी उम्मीदवार राम प्रताप सिंह ने बीएसपी उम्मीदवार धर्मपाल सिंह को 47255 वोटों से हराया.

2012: इस चुनाव में यहां बीएसपी की जीत हुई थी. बीएसपी उम्मीदवार धर्मपाल सिंह ने एसपी के प्रेम सिंह बघेल को 8504 वोटों से हराया था.

7. फतेहाबाद

2017: बीजेपी के जितेंद्र वर्मा ने एसपी के राजेंद्र सिंह को 34364 वोटों से हराया था.

2012: बीएसपी उम्मीदवार छोटेलाल वर्मा ने एसपी के राजेंद्र सिंह को करीबी अंतर से हराया था. दोनों उम्मीदवारों को मिले वोटों का अंतर महज 699 था.

8. फतेहपुर सीकरी

2017: फतेहपुर सीकरी सीट पर भी इस चुनाव बीजेपी की जीत हुई थी. बीजेपी उम्मीदवार उदयभान सिंह ने बीएसपी के सूरजपाल सिंह को 52337 वोटों से हराया था.

2012: इस चुनाव में यहां बीएसपी की जीत हुई थी. बीएसपी उम्मीदवार सूरजपाल सिंह ने निर्दलीय राजकुमार चहर को 5623 वोटों से हराया था.

9. खेरागढ़

2017: खेरागढ़ सीट पर इस चुनाव में बीजेपी के महेश कुमार गोयल ने बीएसपी उम्मीदवार भगवान सिंह कुशवाह को 31999 वोटों से हराया था.

2012: खेरागढ़ सीट पर भी इस चुनाव में बीएसपी की जीत हुई थी. बीएसपी उम्मीदवार भगवान सिंह कुशवाह ने एसपी उम्मीदवार रानी पक्षलिका सिंह को 7106 वोटों से हराया था.

अब उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में भी इस बात पर निगाहें रहेंगी कि आगरा जिले में फिर से कोई बड़ा उलटफेर होगा या बीजेपी एक बार फिर यहां मजबूत प्रदर्शन करने में सफल रहेगी.

ताजमहल की वजह से दुनियाभर में मशहूर है आगरा
अखिलेश यादव का नाम टीपू कैसे पड़ा, कैसे हुई राजनीति में एंट्री

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in