UP चुनाव: अमेठी जिले में अपना जनाधार वापस हासिल कर पाएगी कांग्रेस?

UP चुनाव: अमेठी जिले में अपना जनाधार वापस हासिल कर पाएगी कांग्रेस?
अमेठी में एक जनसभा के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी(फाइल फोटो: मनीष अग्निहोत्री/इंडिया टुडे)

उत्तर प्रदेश का अमेठी (Amethi) जिला फैजाबाद मंडल के अंतर्गत आता है. यह जिला 1 जुलाई 2010 में सुल्तानपुर जिले की तहसील अमेठी, गौरीगंज, मुसाफिरखाना और रायबरेली की तहसील तिलोई और सलोन को मिलाकर बना था. शुरू में इसका नाम छत्रपति साहू जी महाराज नगर था. बाद में यह नाम बदलकर अमेठी हो गया.

अमेठी जिले में 4 विधानसभा क्षेत्र और 1 लोकसभा क्षेत्र है. यहां के इकलौते संसदीय क्षेत्र पर लंबे वक्त तक कांग्रेस का दबदबा रहा है. हालांकि, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी अमेठी सीट से साल 2019 का लोकसभा चुनाव हार गए थे. उस चुनाव में यहां से बीजेपी की स्मृति ईरानी की जीत हुई थी.

राहुल गांधी अमेठी सीट से 2004 से लेकर 2019 तक सांसद रहे. इससे पहले इस सीट से उनकी मां सोनिया गांधी और पिता राजीव गांधी भी सांसद रहे थे.

बात अमेठी के विधानसभा क्षेत्रों की करें तो 2017 के विधानसभा चुनाव में इस जिले में बीजेपी का दबदबा रहा था. वहीं 2012 के विधानसभा चुनाव में यहां की कुल 4 सीटों में से कांग्रेस और एसपी के खाते में 2-2 सीटें आई थीं. इन दोनों चुनावों के दौरान अमेठी जिले की सियासी तस्वीर किस तरह बदली, उस पर एक नजर दौड़ाते हैं.

1. तिलोई

2017: इस चुनाव में तिलोई सीट पर बीजेपी उम्मीदवार मयंकेश्वर शरण सिंह ने बीएसपी के मोहम्मद सऊद को 44047 वोटों से हराया था.

2012: इस चुनाव में यह सीट कांग्रेस के खाते में गई थी. कांग्रेस उम्मीदवार मोहम्मद मुस्लिम ने एसपी की टिकट पर चुनावी मैदान में उतरे मयंकेश्वर शरण सिंह को 2710 वोटों से हराया था.

2. जगदीशपुर (एससी)

2017: इस चुनाव में यहां भी बीजेपी की जीत हुई थी. बीजेपी उम्मीदवार सुरेश कुमार ने कांग्रेस के राधेश्याम को 16600 वोटों से हराया था.

2012: इस चुनाव में यहां कांग्रेस उम्मीदवार राधेश्याम ने एसपी के विजय कुमार को 5397 वोटों से हराया था.

3. गौरीगंज

2017: गौरीगंज सीट पर इस चुनाव में एसपी उम्मीदवार राकेश प्रताप सिंह ने कांग्रेस के मोहम्मद नईम को 26419 वोटों से हराया था.

2012: इस चुनाव में भी यहां एसपी उम्मीदवार राकेश प्रताप सिंह ने जीत दर्ज की थी. उन्होंने कांग्रेस के मोहम्मद नईम को 503 वोटों के करीबी अंतर से हराया था.

4. अमेठी

2017: अमेठी सीट इस चुनाव में बीजेपी के खाते में गई थी. बीजेपी उम्मीदवार गरिमा सिंह ने एसपी उम्मीदवार गायत्री प्रसाद को 5065 वोटों से हराया था.

2012: इस चुनाव में अमेठी सीट पर एसपी उम्मीदवार गायत्री प्रसाद ने कांग्रेस की अमीता सिंह को 8760 वोटों से हराया था.

एक ऐसे वक्त में जब कांग्रेस उत्तर प्रदेश की सियासत में अपनी खोई हुई जमीन पाने की कोशिश में है, इस बात पर भी निगाहें रहेंगी कि राज्य में अगले साल प्रस्तावित विधानसभा चुनाव में कांग्रेस अमेठी जिले में कैसा प्रदर्शन करती है.

अमेठी में एक जनसभा के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी
जब योगी आदित्यनाथ बोले- 2019 का चुनाव लगता था सबसे कठिन चैलेंज

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in