काशी विश्वनाथ मंदिर में बढ़ी भीड़ को देखते हुए प्रोटोकॉल सिस्टम होगा लागू, जानें क्या है ये

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट काशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के बाद से ही श्रद्धालुओं की संख्या में भारी इजाफा हुआ है. इसको लेकर भीड़ को नियंत्रित करना और खासकर वीआईपी दर्शन व्यवस्थित कर पाना एक बड़ी चुनौती थी. अब विश्वनाथ मंदिर प्रशासन ने इसका हल निकाल लिया है और जल्द एक प्रोटोकॉल सिस्टम लागू करने जा रहा है. इसके जरिए मंदिर आने वाले वीआईपी के लिए अलग से टोकन सिस्टम होगा और वीआईपी दर्शन से आम श्रद्धालुओं को दिक्कत भी नहीं होगी.

अहम बिंदु

जल्द शुरू होने वाले वीआईपी दर्शन के बारे में काशी विश्वनाथ मंदिर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुनील वर्मा ने बताया कि काशी विश्वनाथ धाम में लोकार्पण के बाद से ही काफी संख्या में श्रद्धालु आ रहे हैं. अब एक प्रोटोकॉल सिस्टम शुरू होने वाला है. अधिक सुविधाजनक दर्शन कराने के मकसद से प्रोटोकॉल सिस्टम लागू करने जा रहे हैं.

इसमें वीआईपी दर्शन करने वाले लोगों को टिकट मिलेगा और आम लोगों को दिक्कत भी नहीं होगी. उन्होंने बताया कि VIP दर्शन के नाम पर नियम को भी ताक पर रख दिया जाता रहा, लेकिन अब व्यवस्थित ढंग से दर्शन हो पाएगा. प्रोटोकॉल सिस्टम को लेकर जिला प्रशासन, मंदिर न्यास और पुलिस के साथ बैठक हो चुकी है. अब इसे जल्द ही लागू किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि आम श्रद्धालुओं की सुविधा को देखते हुए ही प्रोटोकॉल सिस्टम बनाया गया है ताकि उनको सहूलियत हो.

आपको मालूम हो कि विश्वनाथ धाम बनने के बाद से ही वाराणसी में आने वाले पर्यटकों की तादाद काफी बढ़ चुकी है. सिर्फ जुलाई माह में ही 39 लाख पर्यटक वाराणसी पहुंचे थे. वहीं इस वर्ष नए साल पर 2 दिनों के अंदर साढ़े 5 लाख श्रद्धालुओं ने बाबा विश्वनाथ का दर्शन किया था. कृष्ण जन्माष्टमी और रक्षाबंधन के पर्व पर तो लगभग 2 हफ्ते पहले सारे होटल भी फुल थे.

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in