नोएडा: चार साल की मासूम के साथ स्कूल में डिजिटल रेप? मामला दर्ज कर जांच में जुटी पुलिस

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर फोटो: यूपी तक

नोएडा के एक स्कूल में चार वर्षीय मासूम के साथ डिजिटल रेप का मामला सामने आया है. मासूम की मां की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और कार्रवाई में जुट गई है. फिलहाल स्कूल में लगे सभी सीसीटीवी को खंगालने की पीड़िता की मां ने गुहार लगाई है. बाथरूम में उसकी मासूम बच्ची के साथ डिजिटल रेप होने का आरोप है.

पीड़ित बच्ची की मां ने बताया कि बिटिया ने घर आकर कहा कि पूरे शरीर में खुजली हो रही है. इस पर उन्होंने पाउडर लगा दिया, लेकिन खुजली बंद नहीं होने पर बच्ची को नजदीक के अस्पताल में ले गए. जहां उसने बताया कि स्कूल में उसके साथ गलत हरकत की गई है.

जिसके बाद मासूम की मां ने थाना 39 पुलिस को लिखित शिकायत देकर मामला दर्ज करवाया है. फिलहाल पुलिस के आलाधिकरियों का कहना है कि मामला दर्ज कर तथ्यों के आधार पर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है.

अहम बिंदु

जानिए क्या है डिजिटल रेप?

दरअसल डिजिटल रेप जैसा कि सुनने में लगता है डिजिटली या वर्चुअली किया गया सेक्सुअल अपराध नहीं है बल्कि यह वह अपराध है जिसमें रिप्रोडक्टिव ऑर्गन की जगह किसी की मर्जी के बिना उंगलियों या हाथ-पैर के अंगूठे से जबरन पेनिट्रेशन किया गया हो. यहां डिजिट शब्द का मतलब इंग्लिश के फिंगर, थंब या पैर के अंगूठे से है. यही वजह है कि इसे ‘डिजिटल रेप’ कहा जाता है. दिसंबर 2012 से पहले देश में डिजिटल रेप को छेड़खानी समझा जाता था, लेकिन निर्भया कांड के बाद इसे सेक्शन 375 और पॉक्सो एक्ट की श्रेणी में रखा गया है.

एडिश्नल डीसीपी अशुतोष द्विवेदी ने बताया कि स्कूल में तैनात स्टाफ व शिक्षकों से इस बारे में पूछताछ की है. स्कूल की सात और आठ सितंबर की सीसीटीवी फुटेज खंगाला है. सात सितंबर के फुटेज में बच्ची स्कूल के बाथरूम में जाती नजर आ रही है. इसके कुछ देर बाद वह बाहर आ जाती है. इस दौरान उसके साथ कोई भी नजर नहीं आया. पुलिस ने बच्ची की मेडिकल जांच भी कराई है. पुलिस मामले की जांच जारी है. जांच पूरी होने के बाद ही इस मामले में स्पष्ट रिपोर्ट सामने आएगी.

सांकेतिक तस्वीर
नोएडा: जानिए क्या है डिजिटल रेप? इसी अपराध में 65 वर्षीय बुजुर्ग को मिला आजीवन कारावास

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in