कुश्ती पर कोहराम के बाद बृजभूषण सिंह के गढ़ नंदिनी नगर का भी बदला नजारा, मायूस लौटे खिलाड़ी

कुश्ती पर कोहराम के बाद बृजभूषण सिंह के गढ़ नंदिनी नगर का भी बदला नजारा, मायूस लौटे खिलाड़ी
फोटो - समर्थ श्रीवास्तव

Gonda News: गोंडा के नंदिनी नगर जहां सालों से बृजभूषण शरण सिंह कुश्ती प्रतियोगिता कराते आए हैं वहां का नज़ारा आज बदला हुआ है. सालों से चली आ रही प्रतियोगिता की परंपरा रविवार को यहां टूट गई और तीन दिवसीय कार्यक्रम का समापन एक ही दिन में हो गया. खेल मंत्रालय के गोंडा में आयोजित नेशनल ओपन रैंकिंग टूर्नामेंट को रद्द करने के आदेश से दूसरे राज्यों से खेलने आए पहलवानों खफा नजर आए.

अहम बिंदु

कई पहलवान जो मथुरा प्रतापगढ़ और दिल्ली से आए हैं. उन्होंने यूपी तक से बातचीत में बताया कि कुश्ती के लिए 8 से 9 किलो वजन कम किया था, कमजोरी भी लग रही है, ठंड में इतना दूर से ट्रेन में खड़े खड़े आए, सिर पर बोर्ड एग्जाम है उसकी भी चिंता नहीं की और यहां आकर पता चला की प्रीतियागिता ही रद्द है.

बृजभूषण शरण सिंह के साम्राज्य का असल भाग नंदिनी नगर में दिखता है. यहां बना स्टेडियम बृज भूषण की तस्वीरों से सजा है, कुर्सियां और कुश्ती वाली मैट हटाई जा रही है. इसके अलावा यही पर आधुनिक गौशाला बनी है जिसमे गाय और भैसों के लिए तमाम सुविधाएं हैं. गौशाला चलाने वालों ने बताया कि बृज भूषण खुद यहां आकर गाय-भैसों को गुड़ खिलाते हैं. यही से यहां से पहलवान कम पैसों में दूध खरीदते हैं.

गौशाला के आगे ही कई हॉस्टल और कुश्ती के लिए प्रैक्टिस ग्राउंड बने हैं, जहां कुश्ती सीखने वाले बच्चे रहते भी है. उन्होंने बताया कि उन्हें खाने की मेस के लिए 2500 रुपए महीना देना होता है, जिसके यहां उनका रहना और सीखना भी मिला होता है.

बता दें कि कुश्ती महासंघ के खिलाफ लगे आरोपों को लेकर चल रहे विवाद को लेकर खींचतान के बीच खेल मंत्रालय सख्त नजर आ रहा है. जांच के फैसले और कमेटी के गठन के ऐलान के बाद खेल मंत्रालय ने शनिवार को दो बड़े फैसले लिए गए. जिसमें कुश्ती महासंघ के असिस्टेंट सेक्रेटरी विनोद तोमर पर निलंबित कर दिया गया. इसके साथ ही गोंडा में चल रहे रैंकिंग टूर्नामेंट को भी रद्द किए जाने का आदेश दिया गया. वहीं 22 जनवरी रविवार को अयोध्या में होने वाली कुश्ती महासंघ की बैठक भी रद्द कर दी गई.

कुश्ती पर कोहराम के बाद बृजभूषण सिंह के गढ़ नंदिनी नगर का भी बदला नजारा, मायूस लौटे खिलाड़ी
यूपी में ठंड से राहत के संकेत पर बर्फबारी-बारिश कहीं बिगाड़ न दे खेल, देखें ताजा अपडेट

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in