window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

मैनपुरी में जीत के बाद चाचा शिवपाल को मिलेगी बड़ी जिम्मेदारी, अखिलेश यादव ने कही ये बात

ADVERTISEMENT

Mainpuri Byelection 2022: समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के लिए आज का दिन बेहद खास रहा. उत्तर प्रदेश उपचुनाव में का…

social share
google news

Mainpuri Byelection 2022: समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के लिए आज का दिन बेहद खास रहा. उत्तर प्रदेश उपचुनाव में का सपा का जलवा देखने को मिला. मैनपुरी लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में सपा उम्मीदवार डिंपल यादव ने बड़ी जीत हासिल की. डिंपल यादव ने बीजेपी के रघुराज सिंह शाक्य दो लाख 88 हजार 461 मतों से करारी शिकस्त दी. डिंपल के इस जीत में चाचा शिवपाल की भी बड़ी भूमिका रही, जसवंत नगर में उन्हें 1 लाख से ज्यादा वोट मिले.

वहीं मैनपुरी में जीत के बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यूपी तक से बात करते हुए कहा कि चाचा शिवपाल को बड़ी जिम्मेदारी मिलना स्वाभाविक है. उनका साथ आना अच्छा है और जिम्मेदारी मिलेगी.

अखिलेश यादव ने आगे कहा कि मैनपुरी की जनता ने नेताजी को सच्ची श्रद्धांजलि दी है. जीत बहुत बड़ी है और अब हमारी जिम्मेदारी है कि नेता जी ने जो रास्ता दिखाया है हम उस रास्ते पर चलें. इस परिणाम से सपा कार्यकर्ताओं में जोश है, 2024 के लिए अब सपा और तैयार दिखेगी. चाचा शिवपाल से विलय पर अखिलेश यादव ने कहा कि यह अच्छा हुआ है, उनके जसवंतमगर में एक लाख से ऊपर की जीत हुई है और विधानसभा में भी अच्छी जीत हुई है. चाचा के आने से संगठन और पार्टी में लाभ पहुंचा है. आगे भी हम मिलकर काम करेंगे पार्टी को और लाभ मिलेगा.

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

बता दें कि मैनपरी में जीत के बाद समाजवादी पार्टी और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के विलय का फैसला हुआ. खुद अखिलेश यादव ने पार्टी का झंडा शिवपाल यादव को देते हुए विलय के फैसले पर मोहर लगा दी है.

सपा प्रमुख ने कहा कि रामपुर में जब मैं जनसभा में गया उससे पहले आजम खान से लगातार बात कर रहा था, वह लगातार मुझसे कह रहे थे कि प्रशासन मुझे जीतने नहीं देगा. अखिलेश ने ऐसा आरोप लगाया कि वहां बहुत सारे नेता इस बात को कहने के लिए मजबूर थे कि इलेक्शन कमीशन पर बार-बार शिकायत करने के बाद भी कोई कड़ी कार्रवाई नहीं हुई कोई सुनवाई नहीं हुई. जिस वक्त घटनाएं हुई उस वक्त भी कोई कार्रवाई नहीं हुई. सरकार और प्रशासन की तरफ से जो इशारा था, वही हुआ वह लोग चुनाव हराना चाहते थे उन्होंने हरा दिया. मैं चुनाव आयोग से मांग करूंगा इसको रिव्यू करें और वहां दोबारा चुनाव हो.

खतौली में जीत के बाद जयंत चौधरी और चंद्रशेखर के बीच हुई ये डील, कहा- साथ में मिलकर…

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT