UP विधानसभा में महिला विधायकों का विशेष सत्र: विपक्ष ने उठाया अपराध और महंगाई का मुद्दा

UP विधानसभा में महिला विधायकों का विशेष सत्र: विपक्ष ने उठाया अपराध और महंगाई का मुद्दा
तस्वीर: यूपी विधानसभा के यूट्यूब से.

उत्तर प्रदेश की विधानसभा में गुरुवार को केवल महिला सदस्यों की आवाज गूंज रही है. महिला विधायक अपनी बात रख रही हैं क्योंकि आज का दिन महिला विधायकों के लिए निर्धारित किया गया है. सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद सबसे पहले सीएम योगी ने कहा कि महिलाओं के उत्थान के लिए पूर्व में भी काम किया गया है. महिलाओं के लिए समानता पहले चुनाव से शुरू हुई जहां महिलाओं को समान अधिकार दिए गए. सदन आज इतिहास रचने को तैयार है.

अहम बिंदु

सीएम योगी ने कहा- "हमने देखा है कि सदन में पुरुष नेताओं की बातों के पीछे महिला सदस्यों की आवाज दबा दी जाती है, लेकिन आज सदन की कार्यवाही में महिला सदस्यों की बातें सुनकर उन्हें अपनी गलती का एहसास होना चाहिए. आप कर सकते हैं वे घर की महिलाओं से माफी मांगें. सीएम योगी के यह कहते ही सभी सदस्य हंसने लगे.

वहीं विपक्ष के नेता अखिलेश यादव ने कहा कि महिलाओं के पास इतने मुद्दे हैं कि एक दिन काफी नहीं है. उन्होंने कहा कि हाल के वर्षों में महिलाओं के खिलाफ अपराध में वृद्धि हुई है, जिसमें राज्य में लखीमपुर खीरी और हाथरस की घटनाएं शामिल हैं. सरकार को महिलाओं के अधिकारों की रक्षा और उन्हें अवसर प्रदान करने के लिए कदम उठाने की जरूरत है.

अखिलेश यादव ने कहा- "पार्टी की राजनीति से ऊपर, मैं कहना चाहता हूं कि मैं अखबार पढ़कर हैरान हूं. कितने सख्त कानून पारित किए गए हैं, फिर भी अपराध के आंकड़े बढ़ रहे हैं. हमें उनकी शिक्षा, उनकी सुरक्षा और उन्हें आत्मविश्वास देने के लिए मिलकर काम करना चाहिए. महिलाओं के लिए, पेशेवरों और विपक्ष दोनों को एक साथ काम करना चाहिए."

घर का बजट महिलाएं ही संभालती हैं- विधायक आराधना मिश्रा

इस दौरान कांग्रेस विधायक आराधना मिश्रा ने सदन में महंगाई का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि घर का बजट महिलाएं ही संभालती हैं. तेल और गैस के दाम बढ़ गए हैं. अच्छी बात यह है कि महिलाएं जवाब दे रही हैं. उन्होंने कहा कि महिलाओं की बेहतरी के लिए राज्य में महंगाई और बेरोजगारी की स्थिति पर नियंत्रण होना चाहिए.

अहम बिंदु

इसी तरह विधायक डॉ. रागिनी ने महिलाओं के खिलाफ अपराध का मुद्दा उठाया. लखनऊ, गोरखपुर और कुछ अन्य जिलों की घटनाओं का जिक्र करते हुए महिलाओं पर हो रहे अत्याचार की ओर सभी का ध्यान आकर्षित करने की बात कही. उन्होंने कहा कि सरकार को यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि राज्य में महिलाएं सुरक्षित हैं और महिलाओं के खिलाफ यह सब अपराध बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए.

इस पर सुरेश खन्ना ने कहा कि हमने पिछली सरकारों की तुलना में बेहतर कानून व्यवस्था बनाई है और महिलाओं के खिलाफ अपराध को कम करने के लिए लगातार काम किया है. विधानसभा में योगी सरकार की ओर से ऐलान किया गया है कि इस बार विधानसभा से प्रदेश के सभी विधायकों को टैब दिया जाएगा. इसके अलावा सीएम ने यह भी कहा कि सभी महिला सदस्यों के अलावा विधानसभा के सभी सदस्य भी विधानसभा की ओर से दोपहर का भोजन करेंगे और सभी सदस्यों को इसमें भाग लेना चाहिए.

UP विधानसभा में महिला विधायकों का विशेष सत्र: विपक्ष ने उठाया अपराध और महंगाई का मुद्दा
विधानसभा की 22 सितंबर की कार्यवाही से पहले सीएम योगी ने सभी महिला विधायकों को भेजा पत्र

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in