जेई ले रहा था रिश्वत, जैसे ही पकड़े रुपये तभी एंटी करप्शन टीम ने यूं दबोच लिया, देखें

मयंक गौड़

गाजियाबाद से भ्रष्टाचार का हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. एंटी करप्शन टीम ने ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के जेई को 1 लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों दबोचा हैं.

फोटो: मयंक गौड़

आरोप है कि 17 लाख रुपए का बिल पास करने की एवज में ठेकेदार से ये रिश्वत ली गई थी.

फोटो: मयंक गौड़

ठेकेदार का आरोप है कि जेई ने बिल पास करने के लिए उससे 3 लाख रुपये मांगे, लेकिन बात 1 लाख में बनी. ठेकेदार ने मामले की जानकारी एंटी करप्शन टीम को दी.

फोटो: मयंक गौड़

जेई ने रिश्वत के लिए ठेकेदार को गाजियाबाद बुलाया. विकास भवन में कैंटीन में कुर्सी पर जेई सुभाष चंद्र शर्मा बैठे था. दूसरी तरफ टीम ने जाल बिछा रखा था.

फोटो: मयंक गौड़

ठेकेदार ने जैसे ही जेई को रकम थमाई, वैसे ही एंटी करप्शन यूनिट आ पहुंची और उसने जेई को दबोच लिया. जेई बोला कि छोड़ तो दो, आराम से चल रहा हूं.

फोटो: मयंक गौड़

आरोपी जेई के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

फोटो: मयंक गौड़
फोटो: यूपीतक